सफलता का राज secret of success -motivational story in hindi

एक बार एक लड़का छुट्टियां बिताने अपने दादाजी के पास गांव चला गया। वह उसने एक दिन अपने दादाजी से पूछा कि :-“सफलता का राज क्या है?”
इस पर दादाजी उसे पास की नर्सरी में ले गए और  वहाँ से दो पौधे खरीद लाये।
एक पौधा उन्होंने घर के अंदर गमले में लगाया और दूसरा पौधा घर के बाहर लगा दिया।
उन्होंने अपने पोते से पूछा कि:-“तुम्हे क्या लगता है ,इन पौधों में से अधिक सफल  कौन होगा?”

लड़के ने जवाब दिया कि:-“घर के अंदर वाला पौधा ज्यादा सफल होगा क्योंकि वः खतरों से सुरक्षित है जबकि बाहर वाले पौधे को बहुत सी चीजो से खतरा है।”
दादाजी उसकी बात पर मुस्करा दिए। कुछ दिनों बाद लड़का वापस शहर चला गया।  कुछ साल बाद  वह फिर से दादाजी से मिलने गांव आया और पौधों के बारे में  पूछा । दादाजी ने उसे घर के अंदर लगा पौधा  दिखाया। वह पौधा गमले में काफी बड़ा हो चूका था। लड़के ने कहा कि :-“मैने कहा था न कि यही पौधा ज्यादा सफल होगा। वैसे बाहर वाले  पौधे का क्या हुआ।”
दादाजी उसे बाहर लेकर गए तो लड़का हैरान रह गया। बाहर वाला पौधा एक विशाल  व्रक्ष का रूप ले चुका था।
उसने पूछा कि यह कैसे सम्भव है?
दादाजी ने बताया कि खतरों से जूझकर ही सफलता प्राप्त होती है।

Moral:-
मित्रों , खतरों से डरना नही चाहिए,बल्कि उनका सामना करना चाहिए। तभी हमे सफलता मिलेगी।

Also read:-
सफलता का रहस्य
ठान लो तो जीत होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *